Jab Russia Ki Nurse Ne Ilaaj Karte Hue Kapde Pehene Se Kiya Inkar

यह वाक्या सामने आया है मॉस्को के रूस से जहा एक ऐसी नर्स चर्चा में है जो हॉस्पिटल में अपने PPE सूट के नीचे सिर्फ इनर वियर पहन कर कोरोना के मरीजों का इलाज कर रही है! इस नर्स की फोटो किसी ने सोशल मीडिया पर डाली थी और पालक झपकते ही वह फोटो वायरल हो गयी और फिर क्या था, यह नर्स चर्चा का विषय बन गया! जबसे लोगो ने इनकी तस्वीर देखि है तबसे लोगो ने इन्हे रूस की ‘टू हॉट नर्स’ का नाम दे दिया है! जबसे इस नर्स की तस्वीर वायरल हुई तो कुछ लोगो ने इन्हे ट्रोल करना शुरू कर दिया लेकिन लम्बी ख़ामोशी के बाद इस नर्स ने सोशल मीडिया पर हेल्थ वर्कर्स का मजाक उड़ाने वालों का मुँह बंद कर दिया है!

 

PPE किट की बात करे तो ऐसे में जो भी डॉक्टर या नर्स कोरोना वायरस के चलते इस सूट को पहनकर मरीजों का इलाज करते है वह हमेशा यही शिकायत करते है की इलाज करते समय उन्हें काफी गर्मी का सामना करना पड़ता है जिसकी वजह से उनके पहने हुए कपडे पसीने की वजह से गीले हो जाते है! इसीलिए इस नर्स ने बताया था कि लगातार कई घंटो तक PPE सूट पहन कर काम करते करते उन्हें भी काफी गर्मी लग रही थी और हॉस्पिटल का माहौल ऐसा था की वह ब्रेक नहीं ले सकती थी क्युकी मरीजों की संख्या भी जरुरत से ज्यादा हो गयी थी! सिर्फ यही कारण था की उन्होंने PPE के नीचे सिर्फ इनर वियर पहन कर काम ही काम करना शुरू कर दिया!

देखा जाये तो रूस जैसे जगहों पर ऐसा कल्चर है की ये सब बाते आम लगती है! लेकिन हाँ ये सब पब्लिक जहग पर करना ठीक नहीं मन जाता है! इसलिए नर्सो के इस जवाब के बाद भी उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल का सामना करना पड़ा और लोगो ने उनका खूब विरोध भी किया! मगर इतनी मेहनत के बाद भी जब आपके काम को लोग गलत नज़रिये से देखते है तो वह बहुत बुरा लगता है! इसीलिए रूस के कई लोग, नेता और उद्योगपति इन नर्सों के का साथ देने के लिए आगे आये है! नर्सो का साथ देने वाले लोगो का कहना है की जहा कोरोना ने महामारी का रूप ले लिया है, ऐसे में लोगो का इलाज करने वाले मेडिकल स्टाफ के कपड़ो को लेकर बयान बाजी न की जाए!

 

इस नर्स का नाम नादिया बताया जा रहा है और इसकी उम्र लगभग 23 वर्षीय बताई जा रही है! नदिया ने कहा था की सभी नर्सो ने यह फैसला किया था की वह गर्मी के चलते सिर्फ इनर वियर में काम करना पसंद करेंगी! हम सभी की उस दिन लगातार तीन शिफ्ट थी, जिसको हमे पूरा करना था और मरीजों की देखभाल करनी थी! जैसे ही इस बात ने चूल पकड़ा वैसे ही नदिया को ससपेंड कर दिया गया! इसी लिए कुछ लोग उनके पक्ष में खड़े हुए है ताकि उन्हें काम पर वापस लाया जा सके!

Leave a Reply

Your email address will not be published.